Sex In The Car With Bhabhi – भाभी के साथ कार में सेक्स

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम अभय खन्ना और मेरा मोटर पार्ट्स और पुरानी गाड़ियों कीखरीद-बिक्री का काम है। दोस्तों आप लोग यह कहानी ऑनलाइन हिंदी सेक्स स्टोरी – Blogtipsy.comर पढ़ रहे है, पिछले अगस्त के महीने में मेरे पास एकपति-पत्नी आए, जो अपनी पुरानी आल्टो कार बेचना चाहते थे। आदमी की उम्र 38 और महिला कीकरीब 33 होगी। Sex In The Car With Bhabhi – भाभी के साथ कार में सेक्स.

मैंने कार देखकर उनको एक लाख 60 हज़ार रूपयेबोल दिए, लेकिनउन्होंने कहा- 1.80 से कम में नहीं बेचेंगे। वो महिला बहुत खूबसूरत और सेक्सी थी जबकि उसका पति उसके मुकाबलेकाफी मोटा था। महिला का फिगर 38-32-38 होगा। उस समय उसने गुलाबी रंग का सूट पहन रखा था और बाल खुलेछोड़े हुए थे। उसके मम्मे पूरे तने हुए थे और सफ़ेद नेट वाली ब्रा भी नज़र आ रहीथी। यानि कोई देख ले तो उसी समय उसका लण्ड खड़ा हो जाए। मैंने कारका 1.65 तक ऑफर करदिया लेकिन उन्होंने मना कर दिया।
जब वो जाने लगे तो मैंने उस आदमी को कहा- सर अपना कांटेक्ट नंबरदे दें, यदि कोईज्यादा पैसे देने वाला ग्राहक हुआ,तो बता दूँगा। उसने मुझे अपने विजिटिंग कार्ड दे दिया।उसका नाम कन्हैया कुमार था और वो एक कॉस्मेटिक कंपनी में फील्ड मैनेजर था। दो दिन बादमेरे पास एक आल्टो का ग्राहक आया। मैंने तुरंत कन्हैया को फ़ोन लगाया। उसने बताया कि वो दो दिन कंपनी के टूर पर दिल्लीमें है।
मैंने कहा- किसी को आपकी गाड़ी देखनी है।
तो उसने कहा- मैं अपनी पत्नी सुप्रिया को फ़ोन करके बोल देता हूँ और वो आपको फ़ोन कर लेगी, आप ग्राहक कोकार दिखा दे देना। दोस्तों आप लोग यह कहानी ऑनलाइन हिंदी सेक्स स्टोरी – Blogtipsy.com पर पढ़ रहे है |
दो मिनट बाद मुझे फ़ोन आया,बड़ी मीठी आवाज़ में महिला बोली- हैलो..! मैं सुप्रिया बोल रही हूँ, कन्हैया जी की वाइफ, मुझे अभय जी से बात करनी है। मैंने जवाब दिया- हाँ जी मैडम, मैं अभय बोल रहा हूँ, मेरी कन्हैया जी से अभी कार के बारे में बात हुई थी। “आपने जिसको कारदिखानी है, हमारे घर आ कर दिखा दें।”सुप्रिया ने जवाब दिया। मैं उसके घर का पता पूछ कर ग्राहक को साथ लेकर उसके घर को चलपड़ा। पंद्रह मिनट में हम उनकी कॉलोनी पहुँच गए। “Sex In The Car With Bhabhi”.

मैंने दोबारा फ़ोन करके सुप्रिया से उसके घर की लोकेशन पूछी, तो सुप्रिया ने समझा दिया और गेट के बाहर आ गई। उसने आसमानी रंग का कुरता और ब्लैक सलेक्स पहन रखी थी। इस ड्रेस में वो बेहद सेक्सी लग रही थी। घर में उस समय उसके अलावा और कोई भी नहीं था। ग्राहक ने कार अच्छी तरह से देखी और चला कर देखने की बात कही। सुप्रिया बोली- आप चला कर देख लो। मैं जान-बूझ कर वहीं रुक गया और उसको अकेले ट्राई लेने जाने को कहा। उसके जाने के बाद सुप्रिया ने मुझे ड्राइंग रूम में बिठाया और बोली- मैं आपके लिए चाय बनाती हूँ। मैंने मना कर दिया और कहा- बस पानी पिला दो। मैंने सुप्रिया से इधर-उधर की बातें शुरू कर दीं। उसने बताया के उसका एक बेटा और एक बेटी है जो स्कूल गए हैं। मैंने कहा- सुप्रिया जी, आप भी ड्राइविंग सीख लो। तो वो बोली- कन्हैया के पास समय ही नहीं होता, मैं तो चाहती हूँ। “Sex In The Car With Bhabhi”.

तो मैंने हँस कर कहा- मैं सिखा दूँगा आपको सुप्रिया जी। नहीं तो आप किसी ड्राइविंग स्कूल से सीख लें। ‘आप मुझे किसी बढ़िया ड्राइविंग स्कूल के बारे बताना..!’ सुप्रिया ने कहा। ‘ज़रूर, मैं तो सभी को जानता हूँ।’ मैंने जवाब दिया।
इतने में गाड़ी खरीदने वाला आ गया और हम सुप्रिया को बाद में बताने का बोल कर वापिस आ गए। ग्राहक को गाड़ी पसंद आ गई लेकिन वो ज्यादा से ज्यादा 1.75 खर्च करने को तैयार था।
अब मेरा दिल काम में नहीं लग रहा था और आँखों में सुप्रिया की तस्वीर घूम रही थी। करीब एक घंटे बाद सुप्रिया की कॉल आई। उसने पूछा- क्या ग्राहक को गाड़ी पसंद आई?
मैंने कहा- पसंद तो है लेकिन वो 1.75 से ज्यादा नहीं देगा, मेरा कमीशन 2 परसेंट अलग से होगा।“आपने जिसको कार दिखानी है, हमारे घर आ कर दिखा दें।” सुप्रिया ने जवाब दिया।
मैं उसके घर का पता पूछ कर ग्राहक को साथ लेकर उसके घर को चल पड़ा। पंद्रह मिनट में हम उनकी कॉलोनी पहुँच गए। “Sex In The Car With Bhabhi”.

मैंने दोबारा फ़ोन करके सुप्रिया से उसके घर की लोकेशन पूछी, तो सुप्रिया ने समझा दिया और गेट के बाहर आ गई। उसने आसमानी रंग का कुरता और ब्लैक सलेक्स पहन रखी थी। इस ड्रेस में वो बेहद सेक्सी लग रही थी। घर में उस समय उसके अलावा और कोई भी नहीं था। ग्राहक ने कार अच्छी तरह से देखी और चला कर देखने की बात कही। सुप्रिया बोली- आप चला कर देख लो। मैं जान-बूझ कर वहीं रुक गया और उसको अकेले ट्राई लेने जाने को कहा। उसके जाने के बाद सुप्रिया ने मुझे ड्राइंग रूम में बिठाया और बोली- मैं आपके लिए चाय बनाती हूँ। “Sex In The Car With Bhabhi”.

मैंने मना कर दिया और कहा- बस पानी पिला दो। मैंने सुप्रिया से इधर-उधर की बातें शुरू कर दीं। उसने बताया के उसका एक बेटा और एक बेटी है जो स्कूल गए हैं। मैंने कहा- सुप्रिया जी, आप भी ड्राइविंग सीख लो। तो वो बोली- कन्हैया के पास समय ही नहीं होता, मैं तो चाहती हूँ। तो मैंने हँस कर कहा- मैं सिखा दूँगा आपको सुप्रिया जी। नहीं तो आप किसी ड्राइविंग स्कूल से सीख लें। ‘आप मुझे किसी बढ़िया ड्राइविंग स्कूल के बारे बताना..!’ सुप्रिया ने कहा। ‘ज़रूर, मैं तो सभी को जानता हूँ।’ मैंने जवाब दिया। “Sex In The Car With Bhabhi”.
इतने में गाड़ी खरीदने वाला आ गया और हम सुप्रिया को बाद में बताने का बोल कर वापिस आ गए। ग्राहक को गाड़ी पसंद आ गई लेकिन वो ज्यादा से ज्यादा 1.75 खर्च करने को तैयार था।
अब मेरा दिल काम में नहीं लग रहा था और आँखों में सुप्रिया की तस्वीर घूम रही थी। करीब एक घंटे बाद सुप्रिया की कॉल आई। उसने पूछा- क्या ग्राहक को गाड़ी पसंद आई?
मैंने कहा- पसंद तो है लेकिन वो 1.75 से ज्यादा नहीं देगा, मेरा कमीशन 2 परसेंट अलग से होगा। सुप्रिया ने कहा- मैं कन्हैया से बात करके बताती हूँ।
कुछ देर में ही कन्हैया का फ़ोन आ गया कि सौदा पक्का कर दो, परसों वो आ जाएगा और पैसे देकर गाड़ी ट्रान्सफर करवा लेना। मैंने ‘ओके’ बोल दिया। “Sex In The Car With Bhabhi”.
मेरा दिल तो सुप्रिया की तरफ था लेकिन बात कैसे करूँ, समझ नहीं आ रहा था। मुझसे रहा नहीं गया और मैंने सुप्रिया को फ़ोन लगा ही दिया। दोस्तों आप लोग यह कहानी ऑनलाइन हिंदी सेक्स स्टोरी – Blogtipsy.com पर पढ़ रहे है |
“हैलो सुप्रिया जी बधाई हो.. आपकी गाड़ी का सौदा पक्का हो गया। कन्हैया जी से भी मेरी बात हो गई है।” “Sex In The Car With Bhabhi”.
“थैंक्स..! लेकिन अभय जी कमीशन तो छोड़ दो न..!” सुप्रिया बोली।
“मैडम यही तो मेरा बिज़नस है, हाँ.. मैं इतना कर सकता हूँ कि आप एक परसेंट दे देना।” मैंने जवाब दिया।
सुप्रिया हँसे हए बोली- तो आप एक और परसेंट भी नहीं छोड़ सकते?
मैंने जवाब दिया- ठीक है मैडम जी, लेकिन गाड़ी के अच्छे पैसे मिल गए आपको, मुझे क्या मिला?
सुप्रिया बोली- एकाध जगह कमीशन न भी लोगे तो क्या फर्क पड़ेगा आपको? किसी और से पूरे कर लेना।
मैंने कहा- ठीक है, लेकिन आप पार्टी तो दे सकते हैं न?
“हाँ वो बात अलग है, बोलिए क्या पार्टी लेनी है?” “Sex In The Car With Bhabhi”.
मुझे थोड़ा डर भी लगा कि ये बातें वो कन्हैया को न बता दे तो मैंने कहा- कन्हैया जी आ जायेंगे तो उनसे ले लूँगा।
सुप्रिया बोली- लगता है आप ड्रिंक वगैरह की पार्टी चाहते हो, लेकिन कन्हैया ड्रिंक नहीं करते।
मैंने पूछा- तो? दोस्तों आप लोग यह कहानी ऑनलाइन हिंदी सेक्स स्टोरी – Blogtipsy.com पर पढ़ रहे है |
सुप्रिया ने जवाब दिया- कुछ खाने-पीने की पार्टी लेनी है तो मैं कर दूँगी।
मुझे लगा कि बात बन रही है।
“तो ठीक है। वैसे मैं मजाक कर रहा था। बस चाय पिला देना कभी।” मैंने कहा।
“ठीक है आप जब मर्ज़ी आ जाना, चाय का क्या है..!” सुप्रिया बोली।
“ओके मैं कल सुबह दस बजे काम पर जाते समय आपसे चाय पीने आ जाऊँगा..!” मैंने कहा। क्यूंकि मुझे पता था कि कन्हैया कल भी बाहर होगा। “Sex In The Car With Bhabhi”.
“ठीक है, मैं इन्तजार करुँगी।”
मेरा मन बल्लियों उछलने लगा। पता था कन्हैया यहाँ नहीं है और बच्चे भी स्कूल गए होंगे उस समय।
सुबह पूरे दस बजे मैं सुप्रिया के घर के बाहर था। बेल बजाई तो सुप्रिया ने गेट खोला।
मेरी ऑंखें खुली रह गई। सुप्रिया ने जीन्स के साथ ब्लैक टी-शर्ट पहन रखी थी।
ड्राइंग-रूम का दरवाज़ा खोलते ही मैं उसके पीछे था। लण्ड तो मेरा पहले खड़ा हो चुका था, लेकिन उसके भारी चूतड़ देखकर और कड़क हो गया।
सुप्रिया ने मुझे ड्राइंग-रूम में बिठाया और चाय बनाने चली गई।
मैं भी पीछे रसोई में चला गया और बोला- मैं कुछ हेल्प करूँ? “Sex In The Car With Bhabhi”.
सुप्रिया बोली- अरे नहीं, मैं बना रही हूँ न..! मैंने कहा- भाभी जी वैसे तो आप सूट में भी बहुत अच्छी लगती हो लेकिन जीन्स टी-शर्ट में तो और भी ज्यादा मस्त लगती हो।
सुप्रिया ने थैंक्स बोला और पूछा- चाय के साथ क्या लोगे?
मैंने कहा- बस आपके हाथ की चाय और कुछ नहीं।
चाय को लेकर हम ड्राइंग-रूम में आ गए। वो साथ में खाने को काफी कुछ ले आई।
मैंने कहा- भाभी जी, इतना कष्ट न करो।
तो सुप्रिया बोली- भाभी जी.. भाभी जी.. मत कहो, मुझे मेरे नाम से बुला सकते हो।
मैंने कहा- ओके सुप्रिया जी..! “Sex In The Car With Bhabhi”.
तो वो बोली- ये जी.. जी.. का चक्कर भी छोड़ो और बस सुप्रिया नाम से बुलाओ।
मैंने कहा- सुप्रिया , मुझे अभय नाम से बुलाओ।
इन बातों से मुझे लगा कि अब देर नहीं करनी चाहिए।
मैंने पूछा- सुप्रिया अगर कन्हैया को पता चला कि मैं उनकी गैर हाजिरी में घर आया जब आप अकेली थी तो गुस्सा नहीं करेंगे।
“मैं बुद्धू थोड़े हूँ जो उनको ये सब बताऊँगी, मैंने तो आज काम वाली को भी छुट्टी दे दी थी।”
मुझे उसकी आँखों में एक लालसा भरी कसक दिखी। अब मुझे लगा देर नहीं करनी चाहिए। मैंने जान-बूझ कर कप से थोड़ी सी चाय अपनी पैन्ट पर गिरा दी।
“अरे यह क्या किया?” सुप्रिया बोली।
मैंने जेब से रुमाल निकाल कर कहा- इसको जरा गीला कर दो। “Sex In The Car With Bhabhi”.
तो सुप्रिया बोली- आप वाश-रूम चले जाओ और गीले तौलिया से साफ कर लो.. आओ मैं बताती हूँ वाशरूम किधर है।
वाशरूम में सुप्रिया ने मुझे तौलिया दिया और मैं जान-बूझ कर धीरे-धीर से पैन्ट साफ़ करने लगा।
सुप्रिया बोली- ऐसे साफ़ नहीं होगी.. लाओ मैं करती हूँ।
उसने तौलिया से खुद पैन्ट साफ़ करनी शुरू कर दी। मेरा 8 इंच का लण्ड पैन्ट फाड़कर बाहर आने को था। सुप्रिया की नज़र भी उस पर थी और वो थोड़ा हँस दी।
मैंने पूछा- आप हँसी क्यों..! तो बोली- लगता है आप नार्मल नहीं हो? “Sex In The Car With Bhabhi”.
मैंने जवाब दिया- सुप्रिया करीब हो तो कौन नार्मल रह सकता है?
सुप्रिया नशीली मदभरी आवाज में बोली- सुप्रिया भी नार्मल नहीं है अभय…!
इतना सुनते ही मैंने उसके हाथ से तौलिया पकड़ कर फ़ेंक दिया और उसको बाँहों में भर लिया।
उसने ज़रा भी विरोध नहीं किया। मैं उसके मम्मे हाथ में लेकर दबाने लगा।
सुप्रिया भी मुझसे लिपट गई और ‘उह आह’ करने लगी।
सुप्रिया बोली- आओ, बेडरूम में चलते हैं।
वहाँ पहुँचते ही मैंने सुप्रिया को बेतहाशा चूमना शुरू कर दिया। उसने पूरा साथ दिया।
मैंने कहा अपनी टी-शर्ट तो उतारो सुप्रिया ।
वो बोली- अभय तुम उतारो, जो करना है खुद करो। मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी। सुप्रिया ने नेट वाली काली ब्रा पहनी थी। फिर मैंने उसकी जीन्स भी उतार दी। उसने पैन्टी भी काली पहनी थी। अब सुप्रिया ने एक-एक करके मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मैं बेड पे लेट गया। मैंने कहा- सुप्रिया प्लीज मेरा लण्ड चूसो…! उसने झट से मेरा 8 इंच का लण्ड मुँह में ले लिया और चूसने लगी। वो बोली- एक मिनट में आई..! और रसोई से शहद ले आई और मेरे लण्ड पर लगा कर चूसने लगी। वो अभी भी ब्रा-पैन्टी में थी और परी लग रही थी। अब मैंने उसकी पैन्टी उतार दी, बहुत चिकनी चूत थी उसकी। थोड़ी खुली ज़रूर थी लेकिन एकदम साफ़ और दाना अन्दर की तरफ। मैं पागलों की तरह उसकी चूत पर शहद डाल कर चूसने लगा। उसकी सिसकारियों से माहौल और सेक्सी हो गया। अब मैंने उसकी ब्रा खोलकर मम्मे चूसने शुरू कर दिए और हाथ से उसकी फुद्दी मसलने लगा, जो पूरी गीली हो चुकी थी। इसके साथ-साथ मैं उसके गुलाबी होंठ भी चूसता रहा और वो भी।

अब हम 69 पोजीशन में आ गए और एक-दूजे का लण्ड-फुद्दी चूसने लगे। सुप्रिया सेक्सी आवाज़ में बोली- आओ न अभय अन्दर डालो न प्लीज..! उसने गद्दे के नीचे से कंडोम निकाला और मेरे लण्ड पर चढ़ा दिया। मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसकी चूत में लण्ड घुसा दिया। वो तनिक सिसियाई और कुछ ही पलों में उसके मुँह से आवाज निकलने लगी- ओह अभय… और तेज और जोर से करो..! फिर मैंने सुप्रिया को बेड पे चित्त लेटा दिया और खुद नीचे खड़ा होकर उसकी टाँगें अपने कंधों पर रखकर चोदने लगा। दस मिनट बाद सुप्रिया ने बताया कि वो डिस्चार्ज हो चुकी है। मैंने गांड में डालने को कहा तो नहीं मानी। “Sex In The Car With Bhabhi”.

इसके बाद मैंने सुप्रिया को अपने ऊपर बिठा लिया और वो तेज़-तेज़ चुदाई करने लगी। वो एक बार फिर झड़ गई और उसकी गर्मी से मैं भी पिंघल गया।
कुछ देर हम नंगे ही लेटे रहे। फिर कपड़े पहने और ड्राइंगरूम में आ गए। सुप्रिया ने फिर चाय बनाई और हमने एक साथ बैठकर पी।
सुप्रिया बोली- थैंक्स अभय !
मैंने पूछा- किस बात का?
तो वो बोली- इतना अच्छा सेक्स करने का,

मेरी तमन्ना पूरी हुई तुमसे चुद कर, कन्हैया तो सिंपल सेक्स करते हैं, फुद्दी भी नहीं चूसते और 5 मिनट में झड़ जाते हैं। “Sex In The Car With Bhabhi”.
‘जब भी मौका मिला करेगा हम और अच्छी तरह से सेक्स किया करेंगे।’ मैंने कहा।
तो उसने कहा- तुम खुद फ़ोन न करना, जब मैं अकेली होऊँगी तो कर लिया करूँगी।
इसके बाद मैं उसको एक दीर्घ चुम्बन करके काम पर चला गया।
अगले दिन कन्हैया आ गया और मैंने उनकी कार बिकवा दी। मैंने कन्हैया से 2 हज़ार कमीशन लिया, जो सुप्रिया को दे दिया। सुप्रिया ने कहा- अभय कमीशन तुम रख लो। लेकिन मैंने मजाक करते हुए कहा- कमीशन तो चुदाई के रूप में मिलने लगी है। तुमसे नकद कमीशन थोड़े ना लूँगा। अब उन्होंने नई स्विफ्ट कार ली है और सुप्रिया ड्राइविंग सीख रही है। कन्हैया जब बाहर जाता है तो मैं सुप्रिया को चोदना नहीं भूलता। अभी तक चार बार और चोद चुका हूँ। वो फ़ोन करके खुद बुला लेती है। “Sex In The Car With Bhabhi”.

एक बात और बता दूँ, अक्टूबर में एक बार कन्हैया टूर पर था और बच्चे ननिहाल गए थे तो मैंने पूरी रात उसको जी भर कर चोदा।

आपको ये कहानी Sex In The Car With Bhabhi – भाभी के साथ कार में सेक्स अच्छी लगी हो तो कमेंट और शेयर जरुर करें.

देखो जी मुझे तो सेक्स कहानियां लिखना अच्छा लगता हैं और चुदवाना भी मेरा नाम अनामिका शर्मा हैं और मैं इस साईट की CEO हूँ और इस साईट पे आप लोगो को हिंदी सेक्स स्टोरी, हिंदी सेक्स कहानियां, उर्दू सेक्स कहानियां, English Sex Story, बंगाली सेक्स स्टोरी मिलेगी जो अगर आपको पसंद हैं वो पढो और अपने दोस्तों को भी शेयर करो Whatsapp पर धन्यवाद!

One Reply to “Sex In The Car With Bhabhi – भाभी के साथ कार में सेक्स”

Comments are closed.